क्या मैं प्रेगनेंसी में डांस कर सकती हूँ?

स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधित सभी प्रकार के प्रश्नों के लिए आप हमसे संपर्क  कर सकते हैं

स्वास्थ्य सम्बंधित समस्या के लिए फार्म भरें .

या 

WhatsApp No 6396209559  या

हमें फ़ोन काल करें 6396209559

 

क्या मैं प्रेगनेंसी में डांस कर सकती हूँ?

क्या प्रेगनेंसी में डांस करना सुरक्षित है?

हाँ, प्रेगनेंसी में डांस करना आमतौर पर सेफ माना जाता है। यह एक्सर्साइज़ करने का अच्छा तरीका है। अगर आप डांस करती रहती हैं तो आप प्रेगनेंसी में यह जारी रख सकती हैं। तो आपका जब भी डांस का मन करे आप बेफिक्र होकर डांस करें।

अगर आप ज़्यादा डांस नहीं करती हैं तो आपको आराम वाला डांस ही करना चाहिए। मतलब ऐसा डांस जो आपको ज़्यादा थकाता या तनाव नहीं देता है। ऐसा डांस मत करें जिसमें उछलना, या स्ट्रेच करना पड़ता हो। अगर आपको डांस करना पसंद है तो इसकी क्लास जॉइन करना अच्छा आइडिया है। आपका टीचर आपको आपके अनुसार डांस बता सकता है।

मुझे प्रेगनेंसी में कब डांस नहीं करना चाहिए?

आपको इन चीजों के होने पर डांस नहीं करना चाहिए:

  • कोई भी सिरियस बीमारी, जैसे गर्भावस्था की डायबटीस
  • चलने में दिक्कत हो
  • दिल, फेफड़ों, किडनी से जुड़ी कोई भी समस्या या थोईरोइड
  • प्रेगनेंसी में अगर कोई समस्या या गर्भपात होने की संभावना
  • कोख की मासपेशियों में दर्द होना
  • योनी से खून निकल रहा हो
  • देखने में दिक्कत हो, सर चकरा रहा हो या घभराहट
  • सर में लगातार दर्द
  • पाँव में जकड़न

प्रेगनेंसी में डांस करने से मुझे क्या फायदे हैं?

डांसिंग आपके शरीर के लिए काफी अच्छी एक्सर्साइज़ है। इससे आपको निम्न चीजों में मदद होती है:

  • दिल और फेफड़े सही रहते हैं
  • मसल मजबूत होती हैं
  • लचिलापन रहता है
  • तनाव भी खत्म होता है, शरीर रिलेक्स रहता है

प्रेगनेंसी में किस प्रकार का डांस करना चाहिए?

आप नीचे दिए गए डांस को इन फ़ायदों के साथ कर सकती हैं:

  • ज़ुम्बा, साल्सा, जैज़, सांबा, बॉलरूम डांस: शरीर शेप में रहता है और मज़ा भी आता है
  • बैली डांस: काफी अच्छी एक्सर्साइज़ है, क्योंकि इसमें सब चीज़ धीरे से होती है। इससे आपके पेट, पीठ और कोख की मसल की एक्सर्साइज़ होती है। इससे आपका आसन सुधरता है।
  • बैले: आपकी मसल के लिए बेहतरीन एक्सर्साइज़ है। इससे आपकी मसल यानी मासपेशियाँ सख्त होती हैं। इससे आपका संतुलन भी अच्छा रहता है।
  • कथ्थक: यह काफी अच्छी एरोबिक एक्सर्साइज़ है क्योंकि इसमें फेफड़े और हृदय अच्छी तरह से काम करता है। इससे आपको और ऊर्जा मिलेगी।

 

आप कोई भी डांस चुनें लेकिन उसे हफ्ते में 3-4 बार 30 मिनट के लिए करें।

किस प्रकार का डांस मुझे नहीं करना चाहिए?

  • जिससे आपके शरीर में काफी तनाव बढ़े
  • जिसमें आपको उछलने, झुकने और स्ट्रेच की ज़रूरत हो।
  • जिससे शरीर का तापमान बढ़े
  • जिससे आप थक जाएँ

नीचे दिए डांस आपको नहीं करने चाहिए। कोई भी डांस करने से पहले अपने डॉक्टर और डांस एक्सपर्ट की सलाह ज़रूर लें।

  • बैले: यह बैले शुरू करने का अच्छा समय नहीं है। अगर आप पहले से यह कर रही हैं तो आप इसे जारी रख सकती हैं। जिससे आपकी कोख के जोड़ पर काफी प्रैशर पड़ता है और बच्चे को पेट में काफी दिक्कत हो सकती है।
  • भरतनाट्यम और कुच्चीपुड़ी: इसमें कूदना, झुकना, और बैठना शामिल है, जिससे आपकी कोख पर प्रैशर पड़ता है।
  • हिप-हॉप, अर्बन, स्ट्रीट डांस, भांगड़ा: इन डांस में काफी अजीब स्टेप होते हैं। जिनको ना करना ही अच्छा है।

प्रेगनेंसी में डांस करने के तरीके

  • डांस करने से पहले अपने शरीर को थोड़ा तैयार कर लें। हिलने ढुलने के लिए अपने जोड़ों और मसल को हिलाएँ।
  • डांस को योगा और स्विमिंग के साथ करना आपके लिए अच्छा है। इससे आपके शरीर में तनाव नहीं आता है।
  • डांस इसलिए करें क्योंकि आपको ये करना पसंद है और इस समय आनंद लें। अगर आपको आनंद ना आए तो आप कोई और एक्सर्साइज़ जैसे जॉगिंग कर सकती हैं।
  • डांस करते हुए हमेशा अपने शरीर की सुनें। थकने पर रुक जाएँ।
  • पानी की कमी ना होने देना सबसे अच्छा है। बीच में ब्रेक लेना ना भूलें और पानी भी पीते रहिए।
  • अगर आप किसी पार्टी में हैं और आपको डांस करने का मन करे तो शराब या कैफीन वाले किसी भी द्रव को ना लें।