मैथी के फायदे और गुण

स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधित सभी प्रकार के प्रश्नों के लिए आप हमसे संपर्क  कर सकते हैं

WhatsApp No 6396209559  या

हमें फ़ोन काल करें 6396209559

मैथी के फायदे

मां के दूध को बढ़ाएं

मेथी के दानों का सेवन करने से मां के शरीर में ज्यादा दूध बनता है क्योंकि मेथी में भरपूर मात्रा में डाईसोजेनिन होता है जिससे दूध ज्यादा मात्रा में बनता है।

 

शिशु के जन्म की प्रक्रिया को आसान करता है

मेथी शिशु के जन्म की प्रक्रिया को आसान बनाने में बहुत मदद करता है। यह शिशु के जन्म के समय गर्भाशय के संकुचन को बढ़ाकर जन्म की प्रकिया को आसान करने में मदद करता है। इसके कारण यह प्रसव वेदना को कम करने में अहम भूमिका निभाता है। लेकिन एक बात का ध्यान रखें गर्भधारण के अवस्था में अत्यधिक मात्रा में मेथी न खायें, इससे गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है।

 

महिलाओं सम्बंधी समस्याएं दूर करें

मेथी के सेवन से महिलाओं के शरीर को सभी आवश्यक तत्व मिल जाते है जो मासिक धर्म की समस्या को दूर कर देते है। पीएमएस, मासिक धर्म के दौरान होने वाला दर्द आदि भी इसके सेवन से दूर हो जाता है। गर्भावस्था और पीरियड्स के दौरान इसका सेवन काफी लाभप्रद होता है।

स्तन के आकार को बढ़ाता है

अगर आप स्तन के छोटे आकार को लेकर शर्मिंदा महसूस करते हैं तो मेथी को अपने रोज के आहार में शामिल करें। इसका एस्ट्रोजेन हार्मोन स्तन के आकार को बढ़ाने में मदद करता है।

 

कोलेस्ट्रॉल घटाएं

अध्ययन के अनुसार, कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर मेथी का सेवन करना चाहिये, इससे बढ़ता कोलेस्ट्रॉल घटता है या स्थिर हो जाता है।

 

हृदय संबंधी खतरे को कम करने में मदद करता है

मेथी के दानों में गैलाक्टोमेनन के गुण के कारण वह दिल के दौरा पड़ने के खतरे को कम करने में मदद करता है। मेथी पोटेशियम का सबसे अच्छा स्रोत होता है जो सोडियम के प्रभाव को कम करके दिल के हृदय गति और रक्त चाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।

 

डायबटीज को नियंत्रण में लाएं

मेथी का सेवन करने से डायबटीज यानि मधुमेह की समस्या नहीं होती है। इसमें गेलाक्टोमेनोन नामक फाइबर होता है जो मेथी में भरपूर मात्रा में पाया जाता है, यह शरीर में सुगर की कम मात्रा को अवशोषित करता है, जिससे शरीर में एसिड कम बनता है और इंसुलिन की मात्रा बढ़ती है।

 

हजम शक्ति को बढ़ाता है

मेथी शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद करता है। साथ ही कब्ज़ से भी राहत दिलाता है।

 

जलन होने पर या एसिड बनने पर राहत दिलाएं

खाना बनाने के दौरान मेथी के बीजों का उपयोग करने से सीने में होने वाली जलन शांत हो जाती है और पेट और आंत भी दुरूस्त रहता है। लेकिन इसका सेवन करने से पहले इसे पानी में अवश्य भिगो लें और बाहरी परत निकाल लें।

 

बुखार और गले के दर्द से राहत दिलाता है

एक छोटा चम्मच नींबू का रस और शहद के साथ मेथी खाने से न सिर्फ बुखार कम होता है, म्यूसलिज के प्रभाव से सर्दी-खांसी और गले के दर्द से राहत मिलती है।