रस्सी कूदने से ये बेमिसाल फायदे

रस्सी कूदने के अदभुत लाभ

अक्सर आपने बचपन में कई बार रस्सी कदूी होगी। रस्सी कूदना वाकई में आपकी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। खेल—खेल में रस्सी कूदने के जो फायदे आपको बचपन में मिलते थे। वही फायदे आप आपको अब भी मिल सकते हैं। रस्सी कूदने से हमारी एब्स, जांघ और मांसपेश्यिां मजबूत बनती है। वैदिक वाटिका आपको बता रही है रस्सी कूदने से आपको मिलने वाले फायदों के बारे में। यदि आप अपने शरीर को चुस्त और फिट रखना चाहते हैं तो आप केवल रस्सी कूदें

हम लोगों के बचपन में कई ऐसे खेल खले है जो हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद थे। सेहत के लिए इतने लाभकारी है हम ये बात नहीं जानते थे। इन्हें में से गेम  है रस्सी कूदने का। जी हां बचपन में खूब कूदी है। जो कि एक खेल था, लेकिन आप ये बात नहीं जानते है कि यह हमारी सेहत के लिए कितना फायदेमंद है। ये भी पढ़े- सावधान! टैटू गुदवाने से HIV सहित हो सकती है ये बीमारियां इन घरेलू उपायों से पाएं पेट की चर्बी से झट से निजात जानिए आखिर आपकी सेहत के लिए चावल सही है या फिर रोटी? आज का समय भागदौड़ का समय है। जिसके कारण हमें इतना समय नहीं मिल पाता है कि हम अपने को फिट करने के लिए ज्यादा समय दे पाएं। जिसके कारण हमारी बॉडी जहां से पाती है वहां से बढ़ जाती है। जिसके कारण हमें कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। वही अगर आप अपनी दिनचर्या से सिर्फ 10 मिनट निकाल लें। तो आपको फिट रखने से कोई नहीं रोक सकता है। आप बिना जिम जाएं अपने आपको फिट रख सकते है। एक्सपर्ट की मानें तो 10 मिनट रस्सी कूदना लगभग 45 मिनट दौड़ने के बराबर है। रस्‍सी कूदने की खास बात यह है कि इसे कभी भी और कहीं भी कर सकते हैं। यात्रा के दौरान भी आप अपनी रस्‍सी को साथ ले जा सकते हैं। जानिए रस्सी कूदने के क्या-क्या फायदे है। करें वजन कम रस्सी कूदने से आपका वजन कम हो सकता है। साथ ही यह शरीर को छरछरा और सुडौल बनाती है। रस्सी कूदने से वजन बहुत ही जल्दी कम होता है। जिससे आप कई बीमारियों से बच सकते है।

रस्सी कूदने के आपकी पेट की एक्सट्रा चर्बी कम हो जाती है।

अगर आप रोजाना 15 मिनट रस्सी कूदेगे तो 200 कैलोरी कम होती है।

 दिल को रखें फिट रस्सी कूदना दिल के लिए सबसे अच्छा है। एक तरह से इसे कार्डियो एक्सरसाइज की बेस्ट फॉर्म कहा जा सकता है। जब आप रस्सी कूदते है, तो आपकी हार्ट तेजी से धड़कने लगता है। जिसके कारण आपके फेफड़ो में अधिक ऑक्सीजन अधिक जाने लगती है। इससे शरीर का तनाव कम होता है और शरीर के सभी अंग अधिक कार्यक्षमता से कार्य करते हैं। स्किन पर लाएं निखार स्किन में निखार लाना है तो रोजाना रस्सी कूदना चाहिए। जब रस्सी कूदी जाती है तो अच्छा वर्कआउट हो जाता है फिर चाहे वो रोज केवल 15 मिनट का ही क्यों न हो। जब आप रस्सी कूदेंगे तब ब्लड सरकुलेशन बढ़ता है और स्किन से टॉक्सिन को बाहर निकालता है। जिससे कि चेहरे पर ग्लो आता है। स्टेमिना को बढ़ाएं रस्सी कूदने से आपको आलस कम आएगा। इसके साथ ही आपका स्टेमिना बढ़ेगा। जिससे कि आप जल्दी थकेगे नहीं।

 विषाक्‍त पदार्थों को निकाले बाहर हमारे शरीर में मौजूद विषाक्‍त पदार्थ बीमारियों का कारण बनते हैं, इसलिए पसीने के जरिये इन्‍हें शरीर से बाहर निकालना बहुत जरूरी है। हम जब भी कोई व्यायाम करते हैं तो शरीर से पसीना अधिक मात्रा में निकलता है और रस्सी कूदते समय भी तेजी से पसीना बाहर निकलता है। इस टाइम कूदे रस्सी अगर आप चाहते है कि आपको रस्सी कूदने से ज्यादा फायदा मिले तो इसके लिए सुबह का समय सबसे अच्छा होता है। साथ ही बंद कमरे कं बजाय खुले में कूदे। इससे आपको ज्यादा फायदा मिलेगा। इससे आपको शारीरिक और मानसिक फायदा मिलेगा। रस्सी कूदते समय ध्यान रखें ये बातें रस्सी कूदने समय कुछ बातों का ध्यान रखें नहीं तो आपको चोट लग सकती है या मांसपेशियों में खिंचाव आ सकता है। रस्से हमेशा खाली पेट कूदें, कपड़े खुले और आरामदेह ही पहनें। रस्सी कूदने से पहले हल्के व्यायाम कर लें ताकि मांसपेशियों से कसाव कम हो जाए व उनको नुकसान न पहुंचे। बहुत ऊंचा कूदने की जरूरत नहीं, इससे आप गिर भी सकते हैं। रस्सी कूदने की गति भी धीमी रखें। शुरूआत में थोड़ा रस्सी कूदें, फिर धीरे-धीरे गति व सीमा बढ़ाएं।

 

 

रस्सी कूदने के अदभुत लाभ

हाथों की मजबूती के लिए
यदि आप नियमित रूप से रस्सी कूदते हैं तो इससे आपके हाथों की एक्सरसाइज होती है। साथ ही आपके हाथ मजबूत भी बनते हैं। यही नहीं हाथों के साथ कंधो में भी ताकत आती है।

लंबाई बढ़ाने के लिए
बच्चों की लंबाई अगर नहीं बढ़ रही हो तो आप उन्हें नियमित रस्सी कूदने की आदत डलवाएं। यदि बच्चा शुरू से ही रस्सी कूद करता है तो उसकी लंबाई तेजी से बढ़ती है।

मोटापा घटाने के लिए
जब आप रस्सी कूदते हैं तब आपका पूरा शरीर गति में रहता है। और जिस जिस जगह पर आपकी अधिक चर्बी होती है उस जगह पर प्रेशर पड़ता है। जिस वजह से धीरे—धीरे आपका मोटापा भी कम होने लग जाता है।
इसके लिए भी आपको रोज कम से कम पंद्रह मिनट तक रस्सी कूदनी है।

एड़ियों व घुटनों के दर्द में
रस्सी कूदने से एड़ियों और घुटनों में दर्द की संभावना खत्म हो जाती है। यदि आपको एड़ियों और घुटनों में दर्द रहता हो तो धीरे—धीरे रस्सी कूदें। इससे आपकी एड़ियों में ताकत आएगी।

तनाव की समस्या में रस्सी कूद
अब यह शोध में भी साबित हो चुका है रोज दस से पंद्रह मिनट तक रस्सी कूदने से दिमाग की कमजोरी दूर होती है और बे वजह की टेंशन भी खत्म हो जाती है।

कलाइयों की मजबूती के लिए
जब आप रस्सी कूदते हैं तब आपके दोनों हाथों की कलाईयां भी घूमती हैं। एैसे में आपकी कलाईयां मजबूत बनती हैं। जिससे कलाईयों व उंगलियों की अकड़न भी ठीक हो जाती है।

कैलोरी बर्न करता है
रस्सी कूदने से शरीर की कैलोरी अधिक तेजी से बर्न यानि जलती हैं। जिससे आपका शरीर पहले की स्लिम अवस्था में आ जाता है।

विषैले तत्व
रस्सी कूदने से शरीर से विषैले तत्व पसीने के रूप में बाहर आ जाते हैं जिससे शरीर निरोग बनता है।

दिल की बीमारी में फायदेमंद
जब आप रस्सी कूदते हैं तब आपकी दिल की धड़कने तेजी से सक्रिय होने लगती है। जो कि दिल को बीमारियों से बचाती हैं। साथ ही साथ दिल को साफ सुतरी हवा भी मिलती रहती है। यही वजह है रस्सी कूदने वाले लोगों को हृदय घात की संभावना ना के बराबर होती है।

आप अपनी दिनचर्या में रस्सी कूदना शुरू कर दें। फिर देखें आपको इससे क्या—क्या फायदे मिलने लगेगें।
रस्सी कूद से शरीर स्लिम व मजबूत रहेगा। और आपको कोई बीमारी भी नहीं लगेगी।