स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधित सभी प्रकार के प्रश्नों के लिए आप हमसे संपर्क  कर सकते हैं

WhatsApp No 6396209559  या

हमें फ़ोन काल करें 6396209559

रोज दो आंवला खाइए,बढ़ती उम्र पर ब्रेक

रोज दो आंवला खाइए,बढ़ती उम्र पर ब्रेक

नई दिल्‍ली। आयुर्वेद में आंवले को जो सम्मान हासिल है वह किसी दूसरे फल, जड़ी अथवा बूटी को नहीं मिलता। यह Vitamin C का सर्वोत्तम स्रोत है। इसके अलावा इसमें गैलिक एसिड, टैनिक एसिड, शर्करा तथा कैल्शियम भी पाया जाता है। आंवले के रस में संतरे के रस की तुलना में 20 गुना अधिक विटामिन सी पाया जाता है। सुबह प्रतिदिन खाली पेट दो आंवला खाने या फिर रात में सोने से ठीक पहले एक चम्‍मच आंवले का चूर्ण एक घूंट पानी के साथ लेने का प्रभाव आप एक महीने में खुद महससू करेंगे।

बाल झड़ने से जुड़ी ये 10 धारणाएं हैं सिर्फ भुलावा

बाल झड़ने से जुड़ी ये 10 धारणाएं हैं सिर्फ भुलावा

बहुत अधिक बालों का झड़ने या गंजेपन से बचाव के लिए हम अक्सर कितनी कोशिशें करते हैं। बाल झड़ने के बारे में आपको कई बार हर किसी से कोई न कोई नुस्खा सुनने को मिल ही जाता है और आप आंख बंद करके अपना भी लेते हैं। फिर भी आपको कुछ भी फायदा नहीं मिल पाता। कभी सोचा है क्यों?

हो सकता है आप आंख बंदकर आज तक जिन बातों पर विश्वास करते आ रहे हों या जिन नुस्खों को अपना रहे हों वे असलियत में मिथक से ज्यादा कुछ भी न हों। आइए जानें गंजेपन से जुड़े 10 आम मिथकों के बारे में।

पुरुषों को दिखना है आकर्षक, तो अपनाएं ये उपाय

पुरुषों को दिखना है आकर्षक, तो अपनाएं ये उपाय

स्मार्ट और आकर्षक दिखना हर पुरुष की चाहत होती है, इसलिए महिलाओं की तरह बालों, स्किन और पैरों का ख्याल रखना पुरुषों के लिए भी जरूरी है. इसके साथ ही चेहरे पर मॉइस्चराइजर लगाना भी जरूरी है, ताकि उनकी स्किन रूखी और बेजान न लगे. ब्यूटी एक्सपर्ट्स की मानें तो, हर प्रकार की स्किन को देखभाल की जरूरत होती है. यह आपको आपकी वास्तविक उम्र से 20 साल तक कम उम्र का और जवां दिखा सकता है. इसके लिए अच्छे सैलून के ब्यूटी एक्सपर्ट ही आपको आपकी स्किन के अनुकूल अच्छे उत्पादों के बारे में बता सकते हैं.

पथरी का सबसे बढि़या आयुर्वेदिक इलाज

पथरी का सबसे बढि़या आयुर्वेदिक इलाज

वृक्क अश्मरी या गुर्दे की पथरी (वृक्कीय कैल्कली, नेफरोलिथियासिस) (अंग्रेजी:Kidney stones) मूत्रतंत्र की एक ऐसी स्थिति है जिसमें, वृक्क (गुर्दे) के अन्दर छोटे-छोटे पत्थर सदृश कठोर वस्तुओं का निर्माण होता है। गुर्दें में एक समय में एक या अधिक पथरी हो सकती है। सामान्यत: ये पथरियाँ बिना किसी तकलीफ मूत्रमार्ग से शरीर से बाहर निकाल दी जाती हैं, किन्तु यदि ये पर्याप्त रूप से बड़ी हो जाएं (२-३ मिमी आकार के) तो ये मूत्रवाहिनी में अवरोध उत्पन्न कर सकती हैं। इस स्थिति में मूत्रांगो के आसपास असहनीय पीड़ा होती है।

किशमिश खाने के सेहत भरे जादू

किशमिश खाने के सेहत भरे जादू

किशमिश सूखे अंगूरों को कहा जाता है। पारम्परिक रूप से बड़े अकार के अंगूरों की किशमिश को हिन्दी में मुनक़्क़ा कहा जाता है।

Pages