Diseases and Treatment

पित्त की पथरी- हल्के में न लें इसे

पित्त की थैली में पथरी(गॉल ब्लैडर स्टोन) का होना एक आम स्वास्थ्य समस्या है। पित्त की थैली पेट के दाएं ऊपरी भाग में लिवर के ऊपर चिपकी होती है। इसमें लिवर से बनने वाले एंजाइम संचित होते हैं।

 पथरी बनने के मुख्य कारण

स्टेम सेल की सहायता से जल्द ठीक होंगे’ स्ट्रोक के मरी़ज़

स्ट्रोक होने के बाद दिमाग में स्टेम सेल डालने से सेहत में सुधार की रफ़्तार बढ़ सकती है.

लंदन के इंपीरियल कॉलेज के वैज्ञानिकों ने इस पद्धति की सुरक्षा की जांच के लिए किए गए शुरुआती प्रयोग में स्ट्रोक का शिकार हुए पांच लोगों की अस्थि मज्जा (बोन मैरो) में ख़ास तरह के स्टेम सेल्स डाले.

हड्डियों की टी.बी से घबराने की जरूरत नहीं

स्पाइन सर्जन होने के बावजूद मैंने एक मरीज मिसेज अल्का शर्मा को जब यह बताया कि वह टी.बी. से पीड़ित हैं, तब वह पूरी तरह चौंक गयीं। इस पर उन्होंने मुझसे कहा कि क्या आप मजाक कर रहे हैं डाक्टर साहब? टी.बी. तो फेफडे़ से जुड़ी बीमारी है और आप रीढ़ की हड़िडयों के डॉक्टर हैं।

क्यों आते हैं आपको भयानक सपने?

हम में से कई लोगों को नींद के वक्त कई डरावने सपने दिखाई देते हैं और हम घबराहट से एकदम  से सोते हुए जाग जाते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि आपकी नींद में इस तरह के सपने क्यों  आते हैं?

मोटे लोगों को होती है बार-बार खाने की लत!

क्या तुरंत खाना खाने के बावजूद आप खाने को लालायित होने लगते हैं? अगर आपका जवाब हां है तो तुरंत जांच कीजिए कि कहीं आप का वजन ज्यादा तो नहीं है?

HIV का टीका बनाने के करीब

शोधकर्त्ताओं ने विशेष एचआईवी एंटीबॉडिज (रोग-प्रतिकारक) के नए गुणों का खुलासा करने में सफलता पाई है, जिसे ब्रॉडली न्यूट्रालाइजिंग एंटीबॉडिज (बीएनए) कहा जाता है। शोधकर्ताओं ने कहा कि इस खुलासे से हम एचआईवी का टीका बनाने के एक कदम और पास पहुंच गए हैं। बीएनए का विकास एचआईवी के टीके का मार्ग प्रशस्त क

जानिए पेट दर्द के कारण

वैसे तो पेट दर्द होने के तमाम कारण हैं और यह दर्द किसी भी मौसम में हो सकता है। इसके बावजूद बरसात के मौसम में पेट दर्द के मामले कुछ ज्यादा ही बढ़ जाते हैं। इसका एक महत्वपूर्ण कारण है-संक्रमण। इस मौसम में पानी दूषित होता है। इस कारण दूषित पानी के पीने से जीवाणु, प्रोटोजोआ, कृमि(व‌र्म्स) और फंगस के

कैल्शियम की कमी दूर करें

कैल्शियम हमारे शरीर का महत्वपूर्ण घटक है। कार्बन, हाइड्रोजन और नाइट्रोजन के बाद शरीर में कैल्शियम की मात्रा सबसे अधिक होती है। हड्डियों और दांतों की संरचना के अलावा कैल्शियम का कुछ भाग रक्त में भी घुला होता है, जो शरीर की प्रक्रियाओं को सही ढंग से चलाने में मुख्य किरदार निभाता है। 

माइग्रेन पर नियंत्रण पाना

माइग्रेन या आधासीसी का दर्द मधुमेह तथा दमे की बीमारी से भी ज्यादा पाया जाता है परंतु चालीस लाख भारतीयों में से सिर्फ दो प्रतिशत ही ऐसे हैं जो इस रोग का पूर्ण रूप से इलाज करवाते हैं। पुरुषों की तुलना में माइग्रेन महिलाओं को ज्यादा होता है। कुछ अध्ययन दर्शाते हैं कि प्रत्येक चार में से एक गर्भवती म

चीनी से परहेज है जानलेवा

मोटापे के डर से चीनी के सेवन पर लगाम लगाना जानलेवा साबित हो सकता है। चैरिटी संस्था ‘सेंस अबाउट साइंस’ के आहार विशेषज्ञों ने मानव शरीर पर शक्कर रहित डाइट का असर आंकने के बाद यह चेतावनी दी है।

Pages